Followers

Wednesday, December 12, 2012

12-12-12



बारह पंक्तियाँ

बारह ज्योतिर्लिंग हैं, बारह हैं कुल मास
बारह होती राशियाँ , बारह संख्या खास |

बारह से दर्जन गिनो, बारह घड़ी के अंक
हर पूनम पर पर्व दे , बारह मास मयंक |

पौ बारह से जीत लो, जीवन एक बिसात
दुश्मन के बारह बजें, कुछ ऐसी दो मात |

पहले अक्षर - ज्ञान फिर  , बारह खड़ी सिखायँ
उन गुरुजन के शिष्य सब, आजीवन मुस्कायँ |

नाम  सुनो  दिल  दहलता , ऐसी  बारह  बोर
जित रक्षक बन यह खड़ी,उत फटके ना चोर |

बारहसिंगा जीव सम, पशु वन का श्रृंगार
इन सब की रक्षा करें , खूब लुटायें प्यार |

अरुण कुमार निगम
आदित्य नगर, दुर्ग (छत्तीसगढ़)
विजयनगर, जबलपुर (मध्यप्रदेश)

18 comments:

  1. बारह बारह का गुणात्मक विवेचन ...

    ReplyDelete
  2. ह्रदय को शीतलता प्रदान करती रचना बहुत ही उम्दा सर बधाई स्वीकारें
    अरुन शर्मा

    ReplyDelete
  3. ्बारह बारह बारह का बहुत खूबसूरत विवेचन किया ……………शानदार दोहे।

    ReplyDelete
  4. 12.12.12 का अच्छा संयोग है!सुन्दर..

    ReplyDelete
  5. आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार 15/12/2012 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    ReplyDelete
  6. १२.१२.१२.का संजोग बहुत अच्छी रचना है |


    आशा

    ReplyDelete
  7. बढिया दोहे,,,बधाई,,,अरुण जी,,,,

    बारह ज्योतिर्लिंग हैं, बारह हैं कुल मास
    बारह होती राशियाँ , बारह संख्या खास |

    recent post हमको रखवालो ने लूटा

    ReplyDelete
  8. सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति . हार्दिक आभार हम हिंदी चिट्ठाकार हैं

    ReplyDelete
  9. बहुत अच्छा विश्लेष्ण ...

    ReplyDelete
  10. बहुत ख़ास सुन्दर दोहे रचे हैं इस विशेष तारीख पर बहुत बहुत बधाई अरुण जी

    ReplyDelete
  11. गजब की प्रस्तुती :)

    मेरी नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है बेतुकी खुशियाँ

    ReplyDelete
  12. बढिया दोहे,,,बधाई

    ReplyDelete
  13. बहुत ही बढ़िया सर!


    सादर

    ReplyDelete
  14. बारह से दर्जन गिनो, बारह घड़ी के अंक
    हर पूनम पर पर्व दे , बारह मास मयंक |

    पौ बारह से जीत लो, जीवन एक बिसात
    दुश्मन के बारह बजें, कुछ ऐसी दो मात |

    बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  15. बारह पर सुन्दर कविता

    ReplyDelete
  16. बढिया दोहे 12-12-12 पर बहुत बहुत बधाई अरुण जी

    ReplyDelete