Followers

Tuesday, May 28, 2013

चाँद कैसा है........


c 
         (चित्र गूगल से साभार)

मुझसे मत पूछिये कि क्या लाया
पालकी   प्यार  की  सजा  लाया |

जागता   है   मेरी   तरह  अब वो
नींद   आँखों  से  ही  चुरा  लाया |

उसने   पूछा   कि   चाँद कैसा है
आइना   बस   उसे   दिखा लाया |

स्वर्ग   होता   कहाँ  , बताना था
गाँव   अपना   उसे   घुमा  लाया |

गम   नहीं   है   हमें   जुदाई  का
फिर   मिलेंगे  अगर  खुदा लाया |

अरुण कुमार निगम
आदित्य नगर, दुर्ग (छत्तीसगढ़)
शम्भूश्री अपार्टमेंट ,विजय नगर, जबलपुर (मध्य प्रदेश)

(ओपन बुक्स ऑन लाइन तरही मुशायरा में सम्मिलित गज़ल)
 

17 comments:

  1. स्वर्ग होता कहाँ , बताना था
    गाँव अपना उसे घुमा लाया|

    बहुत ही सुन्दर और सार्थक संदेश देती उत्कृष्ट गज़ल की प्रस्तुति,आभार.

    ReplyDelete
  2. मुझे आप को सुचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि
    आप की ये रचना 31-05-2013 यानी आने वाले शुकरवार की नई पुरानी हलचल
    पर लिंक की जा रही है। सूचनार्थ।
    आप भी इस हलचल में शामिल होकर इस की शोभा बढ़ाना।

    मिलते हैं फिर शुकरवार को आप की इस रचना के साथ।


    जय हिंद जय भारत...

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर रचना.....

    ReplyDelete
  4. जागता है मेरी तरह अब वो
    नींद आँखों से ही चुरा लाया ..

    गज़ब का शेर .. सभी पर भारी ...
    लाजवाब गज़ल .. सुभान अल्ला ... वाह वाह ....

    ReplyDelete
  5. उसने पूछा कि चाँद कैसा है
    आइना बस उसे दिखा लाया |
    ..बहुत सुन्दर ...

    ReplyDelete
  6. स्वर्ग होता कहाँ , बताना था
    गाँव अपना उसे घुमा लाया |

    बहुत ही बढ़िया.....

    ReplyDelete
  7. खुबसूरत अहसास ......

    ReplyDelete
  8. बहुत ख़ूबसूरत ग़ज़ल...

    ReplyDelete
  9. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा कल बुधवार (29-05-2013) के सभी के अपने अपने रंग रूमानियत के संग ......! चर्चा मंच अंक-1259 पर भी होगी!
    सादर...!

    ReplyDelete
  10. स्वर्ग होता कहाँ , बताना था
    गाँव अपना उसे घुमा लाया |

    ReplyDelete
  11. वाह वाह क्या बात है !!! बहुत उम्दा,लाजबाब प्रस्तुति,,

    Recent post: ओ प्यारी लली,

    ReplyDelete
  12. गम नहीं है हमें जुदाई का
    फिर मिलेंगे अगर खुदा लाया ,,,,,,वाह क्या बात है !!!

    बहुत उम्दा,लाजबाब प्रस्तुति,,

    Recent post: ओ प्यारी लली,

    ReplyDelete
  13. उसने पूछा कि चाँद कैसा है
    आइना बस उसे दिखा लाया |


    बहुत खूबसूरत ....

    ReplyDelete
  14. उसने पूछा कि चाँद कैसा है
    आइना बस उसे दिखा लाया |

    सारे अशआर खूबसूरत हैं....

    ReplyDelete
  15. स्वर्ग....
    होता है कहाँ.....,
    बताना था उसे
    मैं गाँव अपना...
    उसे घुमा लाया.....
    (तोड़-फोड़ के लिये क्षमा)

    बड़ी प्यारी ग़ज़ल.....

    सादर

    ReplyDelete