Followers

Wednesday, June 6, 2012

विवाह की तीसवीं वर्षगाँठ पर कुछ कुण्डलिया


DSC00248.jpg

वो बैठे छत्तीसगढ़ और हम  मध्यप्रदेश
एस.एम.एस.से  भेजते  दोनों ही संदेश
दोनों  ही  संदेश , नौकरी  बैरन  भारी
मजबूरी  है  इधर, उधर  भी  है  लाचारी
साहब  से    छुट्टी   मांगी   वो  मूछें   ऐंठे
शादी की है सालगिरह,गुमसुम वो बैठे.

 भाभी  जी  के  संग गया  ,  मार्केट अभिषेक
दोनों  लेकर आ  गये  सुंदर सा   एक  केक
सुंदर सा एक केक ,देख कर उसका डब्बा
अभिषेक   की   मम्मी   बोली    हाये   रब्बा
सालगिरह  का  केक  अकेली  कैसे  काटूँ
लगा फोन पापा को, थोड़ा सुख-दुख बाटूँ.

मैंने  बोला  फोन  पर  ,  युग  है   हाई  टेक
श्रीमती जी ! काटिये  , फौरन  सुंदर  केक
फौरन सुंदर केक , ऑन लाइन हैं  हम  भी
चिंता तनिक न कीजे , कि फाइन हैं हम भी
आई   बहू  बनारस  से  , सेलीब्रेट  है  करने
केक काट कर जाओ, बहू के संग विचरने.

जा रे, जा रे  ब्लॉग तू  , दो सौ  उन्नीस मील
दिशा पकड़ वायव्य की , लगे जहाँ गुडफील
लगे  जहाँ  गुडफील  ,  वहीं  पर  दुर्ग है  मेरा
माँ  , बीबी  , बच्चों   का  ,   मेरे   वहीं  बसेरा
जाकर   मेरी   मजबूरी  ,  सबको   बतलाना
सालगिरह  तू  ब्याह  की  मेरी वहीं मनाना.

भूला  हूँ  मैं  व्याकरण  , लघु - गुरु को छोड़
आता  है  ऐसा   कभी  , हर जीवन  में  मोड़
हर जीवन  में  मोड़ , बने जीवन ही छलिया
फिर कैसा दोहा – रोला , कैसी कुण्डलिया
दु:ख की बांधे डोर  ,  खुशी  झूले  है  झूला
मित्रों करना माफ,अरुण व्याकरण है भूला.

अरुण कुमार निगम
विजय नगर, जबलपुर (मध्य प्रदेश)

29 comments:

  1. हर जीवन में मोड़,बने जीवन ही छलिया
    फिर कैसा दोहा – रोला ,कैसी कुण्डलिया,,,,

    ओन लाइन ३० वीं वर्ष गाँठ मनाने की बहुत२ बधाई,शुभकामनाए,,,,

    MY RESENT POST,,,,,काव्यान्जलि ...: स्वागत गीत,,,,,

    ReplyDelete
  2. सुंदर पंक्तियाँ, हार्दिक बधाइयाँ आपको

    ReplyDelete
  3. ढ़ेर सारी शुभकामनाएं!
    सादर!

    ReplyDelete
  4. अभिषेक के मम्मी-पापा को विवाह की तीसवीं वर्ष-गाँठ की हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete
  5. बहुत बहुत बधाई सर!


    सादर

    ReplyDelete
  6. मैंने बोला फोन पर , युग है हाई टेक
    श्रीमती जी ! काटिये , फौरन सुंदर केक
    फौरन सुंदर केक , ऑन लाइन हैं हम भी
    चिंता तनिक न कीजे , कि फाइन हैं हम भी
    आई बहू बनारस से , सेलीब्रेट है करने
    केक काट कर जाओ, बहू के संग विचरने... हम भी ऑनलाइन हैं आपदोनों को बधाई देने के लिए , चलिए बढ़ाइए कुछ टुकड़े केक के

    ReplyDelete
  7. बधाई....बधाई......
    बार बार दिन ये आये......
    साथ बना रहे........
    :-)
    सादर

    ReplyDelete
  8. 30 वीं वैवाहिक वर्षगांठ की हार्दिक शुभकामनायें । भावों को क्या खूब पिरोया है।

    ReplyDelete
  9. कल 08/06/2012 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  10. हार्दिक शुभ कामनाएं |
    आशा

    ReplyDelete
  11. इस अवसर पर आपको अनंत शुभकामनाएं भावमय करते शब्‍दों का संगम है यह अभिव्‍यक्ति ...

    ReplyDelete
  12. :):) व्याकरण भले ही भूले हों पर जीवन की मिठास कायम है .... बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें

    ReplyDelete
  13. बहुत सुन्दर.. हार्दिक शुभ कामनाएं |

    ReplyDelete
  14. 30वीं बैवाहिक वर्षगाँठ पर हार्दिक शुभकामनाएँ!
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शुक्रवार के चर्चा मंच पर भी लगाई जा रही है!
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  15. आदरणीय भाभी और आपको वैवाहिक वर्षगांठ की ढेरों बधाइयाँ..... लेकिन यह क्या अरुण भईया....

    छुट्टी लेकर आज ही, लौटो अपने देश।
    सम्मुख कहो बधाइयाँ, भेजो ना संदेश॥
    भेजो ना संदेश, बरस में दिन आता है।
    यादों में आनंद, साथ में ही आता है।
    भाभी कर लो आज, अरुण भईया से कुट्टी।
    अगर नहीं वो आय, दुरुग जो ले के छुट्टी॥


    सादर।

    ReplyDelete
  16. bahot manoranjak.......shubhkamnayen bhi lijiye.

    ReplyDelete
  17. भाई हमसे हो गयी एक घनेरी भूल
    भूल बधाई हम गए दिल में उठता सूल
    दिल में उठता सुल माफ़ हमको कर देना
    जल्दी आकार दुर्ग पार्टी हमसे ले लेना
    आषाढ़ आवत हे हाई टेक तरंग बादर मा
    अटक जाथे|कालिदास के हाई टेक अपनाए ला पढ़ही
    तेखर ले बढ़िया जल्दी आजा भाई जल्दी आजा

    ReplyDelete
  18. विवषता का बहुत सुन्दर चित्रण
    बहुत अच्छी लगी ये कुंडली

    ReplyDelete
  19. 30 वीं वैवाहिक वर्षगांठ की हार्दिक शुभकामनायें ।

    ReplyDelete
  20. शुभप्रभात .... !!
    विवाह की तीसवीं वर्षगाँठ की बहुत-बहुत बधाई और हार्दिक शुभकामनायें .... !!
    कल आपकी तीसवीं शादी सालगिरह थी .....
    कल मेरी तीसवीं शादी सालगिरह होगी ....
    एक और खास बात बताऊँ मेरे पति का नाम भी
    Dr अरुण कुमार श्रीवास्तव है ....

    ReplyDelete
  21. 30 वीं वैवाहिक वर्षगांठ की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ!!!
    रचना में मजबूरी और मिठास दोनों झलक रही है.

    ReplyDelete
  22. सुंदर पंक्तियाँ
    वैवाहिक वर्षगांठ की हार्दिक वैवाहिक वर्षगांठ की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  23. सुन्दर रचना...
    बधाइयाँ

    ReplyDelete
  24. http://bulletinofblog.blogspot.in/2012/06/blog-post_08.html

    ReplyDelete
  25. हार्दिक बधाई सर

    ReplyDelete